कैंसर का इलाज संभव है संपूर्ण जानकारी

आयुर्वेद में कैंसर का इलाज संभव है

कैंसर सिंबल
कैंसर सिंबल

कहां होता है कैंसर का इलाज


क्या आप जानते हैं हमारे भारत देश में एक ऐसे राज्य भी है जहां पर कैंसर का इलाज आयुर्वेद के माध्यम से किया जाता है और आज तक उस जगह से 3000 से अधिक कैंसर के मरीज ठीक होकर बाहर निकले हैं
यह जगह राजस्थान राज्य में स्थित है और यहां पर कैंसर का इलाज और उसके बारे में जानकारी माननीय श्री हंसराज जी चौधरी महाराज करते हैं जिन्होंने हमारे देश के और विदेशों के कई लोगों को कैंसर की इस घातक बीमारी के मुंह से वापस निकाला है पूरे भारतवर्ष में इस जगह पर दूर-दूर से कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक पूरब से लेकर पश्चिम तक और देश विदेशों से भी दूर दूर से लोग यहां पर अपने बीमारी का इलाज करने के लिए चले आते हैं इस हंसराज जी चौधरी जीके आश्रम का नाम नवग्रह आश्रम है

मगर हम लोग आज के युग में हमारे भारत देश के आयुर्वेदिक शक्ति और हमारे इतिहास को इस मॉडल युग के जमाने में कई हद तक भूल रहे हैं आज से कई सालों पूर्व भी इन तरह की बीमारियों पर हमारे आयुर्वेद ने काबू पाया है
माउथ कैंसर
कैंसर फोटो


आप लोग जानते ही होंगे कि कैंसर एक जानलेवा बीमारी है और यह दिन से दिन हमारे देश में और दुनिया में बढ़ता ही जा रहा है और रोजाना ही कैंसर की वजह से हजारों लाखों की संख्या में लोग मर रहे हैं पर एक अनुमान के अनुसार यह आंकड़ा 70 लाख तक पहुंच चुका है कैंसर का ठीक से इलाज ना होने के कारण दुनिया में अनेक लोग इस बीमारी के कारण से मर रहे हैं भले ही मेडिकल साइंस ने इसके इलाज मैं कई हद तक कामयाबी हासिल कर ली है मगर पूर्ण तरह से नहीं मरीज कैंसर के अगर तीसरे स्टेट में हो तो डॉक्टर भी हाथ खड़े कर देते हैं कई मामलों में ऐसा देखा गया है कि डॉक्टरों ने हाथ खड़े कर दिए और कहा कि यह व्यक्ति अब ज्यादा दिनों तक नहीं बच सकता मगर आप लोगों को जानकर  आश्चर्य होगा कि ऐसे वक्त में भी कई मरीज कैंसर की इस घातक बीमारी के मुंह से आयुर्वेदिक की मदद से बाहर निकल चुके हैं
 मगर एक रिपोर्ट के अनुसार कैंसर का मरीज कैंसर की बीमारी से नहीं बल्कि उसके इलाज से मरता है मगर इसका कई हद तक आयुर्वेद में इलाज संभव है मगर मेडिकल साइंस को गलत साबित करने का हमारा कतई भी प्रयास नहीं है
श्री राजीव दिक्षित
राजीव जी दीक्षित

राजीव दीक्षित जी के अनुसार कैंसर का मरीज कैंसर की बीमारी से नहीं बल्कि उसके ऊपर किए गए कैंसर के इलाज से मरता है कैंसर के मरीज को केमोथेरपी दी जाती है यह तो आप लोगों को पता ही होगा कि केमोथेरपी कैंसर के मरीज को दी जाती है इसी केमोथेरपी और उसकी टैबलेट्स महेश को इसलिए दी जाती है कि उसके शरीर में जो कैंसर के सेल से उसे खत्म किया जाए मगर केमोथेरपी देने के बाद मरीज के अंदर के कैंसर के सेल के साथ-साथ जो अच्छे वाली सेल्स होते हैं वह भी खत्म हो जाते हैं और मरीज की हालत दिन से दिन बदतर हो जाती है जैसे कि उसके सर के ऊपर के बाल चले जाते हैं हालत पतली हो जाती है चेहरा सूख जाता है और डरावना चेहरा हो जाता है और उसका शरीर दिन से दिन कमजोर होता जाता है और उसमें रोग प्रतिकार क्षमता कम हो जाती है इसके कारण उसकी मृत्यु हो जाती है मगर आप लोग आयुर्वेद की मदद से कैंसर का इलाज आसानी से कर सकते हैं
क्योंकि हमारे देश में कई ऐसे आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां और सामग्री मिलती है जोकि और किसी देश में नहीं मिलती सचमुच इसलिए हमारा भारत देश को महान कहा जाता है और इस बात का हमें गर्व भी है

पैरालाइस का इलाज संभव है

आप लोगों को पता ही होगा कि आज से कई सालों पहले जब दुनिया में मेडिकल साइंस का अस्तित्व नहीं था तब भी इस प्रकार की कई बीमारियां थी मगर तब भी हमारे भारत में आयुर्वेद की मदद से ऐसी बीमारियों पर काबू पा लिया जाता था मगर आज की दुनिया में हम अपनी आयुर्वेदिक शक्ति और अपने इतिहास को भूल रहे हैं और मेडिकल साइंस और एलोपैथिक दवाइयों के पीछे भाग रहे हैं
त्वचा कैंसर
स्किन कैंसर

अगर आप लोग इन सभी उपायों को कर कर थक गए हैं और डॉक्टर ने आपको जवाब दे दिया है तो आप लोग हाथ पर हाथ रखकर ना बैठे और ना ही किसी बात की चिंता करें क्योंकि उसके बारे में ज्यादा विचार करने से मरीज और भी ज्यादा कमजोर हो जाता है इससे बढ़िया आप लोग इस जगह पर जाए और अंतिम उपाय आयुर्वेद का सहारा लेकर देखिए अगर आप लोग अस्पतालों के चक्कर काटकर थक गए हैं तो इस जगह पर आपको जाने में क्या हर्ज है जहां से आज तक 3000 से अधिक लोग कैंसर से मुंह से बाहर निकल चुके हैं

नवग्रह आश्रम राजस्थान कैसे जाए

नवग्रह आश्रम जहां पर कैंसर के मरीजों का इलाज किया जाता है और उचित मार्गदर्शन दिया जाता है और दवाई भी दी जाती है यह जगह हमारे भारत देश के राजस्थान राज्य में भीलवाड़ा जिले में रायला नामक स्थान है वहां से 9 किलोमीटर की दूरी पर मोती बोर खेड़ा नामक स्थान पर माननीय श्री हंसराज जी चौधरी द्वारा स्थापित नवग्रह आश्रम है यहां पर माननीय श्री हंसराज चौधरी महाराज रविवार के दिन मरीजों का इलाज करते हैं और उन्हें दवाई और उचित मार्गदर्शन देते हैं अगर आप लोगों में से कोई कैंसर का मरीज है या फिर आपके कोई परिजन है तो आप लोग इस जगह पर जा सकते हैं जाते वक्त एक बात ध्यान रखिए कि आप लोग ऐसे वक्त जाए कि आप लोग रविवार के दिन वहां पर पहुंच सके और कम से कम 2 से 3 दिन के प्लानिंग के साथ जाए इस आश्रम में जाने के लिए आप लोगों को भारत देश में राजस्थान राज्य मैं नजदीकी रेलवे स्टेशन जैसे कि जोधपुर है जोधपुर से भीलवाड़ा जिले की या भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन की दूरी 376 किलोमीटर है और कोटा से 200 किलोमीटर है आप लोगों के शहर से अगर डायरेक्ट भीलवाड़ा के लिए ट्रेन चलती हो तो अच्छी बात है नहीं तो आप लोग राजस्थान या फिर कोटा मार्ग से होते हुए जा सकते और जो लोग अदर कंट्री से आना चाहते हैं वह लोग डायरेक्ट जोधपुर एयरपोर्ट तक फ्लाइट सेवा से आ सकते हैं और वहां से आप लोग भीलवाड़ा के लिए ट्रेन बस का चुनाव कर सकते हैं भीलवाड़ा पहुंचते ही वहां से आपको रायला नामक स्थान पर मोती बोर खेड़ा जाना है वहां से आपको नवग्रह आश्रम जाने के लिए ऑटो सेवा मिल जाएगी जो कि आपको माननीय श्री हंसराज जी चौधरी जी के नवग्रह आश्रम तक आपको पहुंचा देगी
वहां पर जाने के बाद आप लोगों को मरीज का वहां पर रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है वहां पर आप लोगों को चाय नाश्ता भोजन या फिर लंच डिनर ब्रेकफास्ट की सुविधा उचित दरों में आसानी से मिल जाएगी और चाहे तो आप लोगों के लिए रहने के लिए उचित दाम पर कमरा भी मिल जाएगा और बिस्तर भी मिल जाएगा यहां से रोजाना कई लोग कैंसर की घातक बीमारी से ठीक होकर खुशी-खुशी अपने घर दवाई सामग्री लेकर लौट जाते हैं उन दवाइयों के बारे में हमें भी जानकारी है मगर हम इसलिए बताना नहीं चाहते कहीं उन दवाइयों का पालन करने में आप से कोई गलती ना हो जाए क्योंकि यह घातक बीमारी है हम चाहते हैं कि इसका आप संपूर्ण इलाज और संपूर्ण जानकारी वहां पर जाकर ही प्राप्त करें
हमारा उद्देश्य इस जानकारी को आप लोगों तक पहुंचाना था अगर आप लोगों को यह जानकारी उचित लगे तो आप लोग इस जानकारी को आपके परिजनों के साथ शेयर कर सकते हैं और किसी के  प्राण बचा सकते हैं अगर आप लोग इस जानकारी से सहमत हैं तो हमारे वेबसाइट को विजिट कर हमारे पेज को फॉलो कर सकते हैं
अगर इस जानकारी में आप लोगों के कुछ पूछना हो तो आप लोग हमें कमेंट भी कर सकते हैं
जय हिंद जय भारत

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ