कोरोनावायरस ने दी सबसे बड़ी खुशखबरी

कोरोनावायरस ने दी सबसे बड़ी खुशखबरी


कोविड-19
कोविड-19

Covid-19 यानी कि कोरोनावायरस
आप लोगों को पता ही होगा कि कोविड-19 यानी कोरोना वायरस ने संपूर्ण दुनिया में हाहाकार मचा कर रखा हुआ है जिसके चलते अभी तक दुनिया भर में 2 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और लाखों की संख्या में लोग इस बीमारी से पीड़ित है इसकी हमें  बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ी है  और बहुत सा नुकसान भी हुआ है  मगर आपको जानकर खुशी होगी कि इसी के चलते कोरोना वायरस को लेकर की एक चौंकाने वाली खुशखबरी निकल कर आई है
यह भी पढ़ें

क्या है आखिर वह खुशखबरी

Covid-19 यानी कि कोरोनावायरस के चलते संपूर्ण दुनिया और हमारा भारत देश भी लॉक डॉन की स्थिति में है इस वैश्विक महामारी के कारण कोई नागरिक घर से बाहर नहीं निकल सकता है इसके कारण सभी व्यापार उद्योग कारखाने रास्तों पर मोटरसाइकिल बस ट्रांसपोर्ट आदि सब बंद है यह सब बंद होने के कारण हमारे सृष्टि को यानी कि इस पृथ्वी को एक बहुत ही बड़ा फायदा हुआ है ट्रांसपोर्ट मोटरसाइकिल छोटे बड़े सभी कारखानों द्वारा निकलने वाले धूल से जो हमारे वातावरण में प्रदूषण फैलता था वह प्रदूषण आज 40 से 50 परसेंट कम हो चुका है और हम आज शुद्ध ऑक्सीजन ले पा रहे हैं
24 मार्च से 24 अप्रैल के बीच पूरे भारत में नाइट्रोजन ऑक्साइड कंसंट्रेशन में भारी गिरावट देखी गई है प्रदूषण  40 से 50 परसेंट कम हो चुका है

भरने लगे हैं पृथ्वी के घाव


अर्थ पृथ्वी
पृथ्वी

हमारे पृथ्वी के ऊपर जो ओजोन परत है उसके बारे में तो आप सभी लोग जानते ही होगे हम पृथ्वी वासियों को अंतरिक्ष से आने वाली अल्ट्रावायलेट किरणें जोकि ओझोन परत के कम हो जाने के कारण हमारे पृथ्वी पर आकर मनुष्य के शरीर पर गहरा प्रभाव डालते हुए कैंसर जैसी अनेक बीमारियों को जन्म देती है कुछ महीने पहले साइंटिस्ट लोगों ने एक रिसर्च के अनुसार बताया था कि पृथ्वी के ऊपर 1मिलियन वर्ग किलोमीटर के जितना ओजोन छिद्र नजर में आया है
कहा जा रहा है कि ओजोन छिद्र होने का कारण नॉर्थ पोल पर कम तापमान को माना गया था अगर यह छेद हवा के साथ साउथ की ओर बढ़ने में कामयाब होता तो मनुष्य के लिए यह सीधा खतरा होता मगर कॉपरनिकन एटमॉस्फेयर ऑब्जरवेशन सर्विस ने दावा किया है मगर कुछ लोगों का कहना है कि  संपूर्ण दुनिया में प्रदूषण की कमी के कारण  पृथ्वी पर जो छेद बना था वह अब बंद हो गया है मगर चाहे कुछ भी हो कोरोना वायरस के कारण  दुनिया में लॉक डाउन की स्थिति के कारण होया फिर कोई भी कारण हो मगर हम भविष्य में आने वाली बहुत बड़े संकट से बच गए हैं

 जो कि हमारे पृथ्वी वासियों के लिए एक ख़तरे की घंटी मानी जा रहीथी 
मगर आज संपूर्ण दुनिया में लॉक डाउन की स्थिति के कारण संपूर्ण दुनिया में छोटे बड़े सभी कंपनी कारखाने उद्योग धंधे मोटरसाइकिल से निकलने वाला धूल  और छोटे बड़े कारखानों से निकलने वाले घातक धूल आज लॉक डॉन के कारण नजर नहीं आ रहा है और इसका हमारे पृथ्वी पर काफी अच्छा प्रभाव पड़ा है इसके चलते आज एक मिलियन वर्ग किलोमीटर में फैले हुए ओजोन छिद्र अपने आप भरने लगा है यह हमारे पृथ्वी वासियों के लिए कोई चमत्कार से कम नहीं है

एक यह कारण भी बताया जा रहा है
 वैज्ञानिकों के मुताबिक इस छेद का बंद होना समताप मंडल का गर्म होना बताया जा रहा है क्योंकि अप्रैल महीने से धूप का प्रमाण पढ़ना शुरू होता है इसके कारण समताप मंडल की परत गर्म होने लगी और ओजोन परत में वृद्धि होने लगी और वह सिद्ध अपने आप बंद हो गया यह हमारे लिए एक बहुत ही बड़ी जीत है 


कोरोनावायरस के कारण देश की सभी नदियां शुद्ध हुई


गंगा नदी
गंगा नदी

कहां जा रहा है कि कोविड-19 यानी कि कोरोना वायरस के चलते संपूर्ण देश में लॉक डॉन की स्थिति के कारण सभी लोग अपने घरों में है और छोटे बड़े कंपनियों द्वारा निकलने वाले केमिकल के पानी जो नदियों में जाकर मिल जाते थे और उसके कारण हमारे देश की सभी नदियां दूषित हो जाती थी आज वह सभी कारखाने बंद पड़े हुए हैं और कहा जा रहा है कि इसी के चलते आज हमारे भारत देश में करीब 75 साल बाद सभी नदियां शुद्ध हो गई है और गंगा नदी का पानी मनुष्य के लिए बिगर फिल्टर या फिर प्यूरीफायर किए बगैर ही पीने लायक बन गया है इसे कोरोना वायरस के द्वारा लॉक डॉन का फायदा ही कहा जाएगा


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां